सिहावा विधायक डाॅं. लक्ष्मी ध्रुव के बयान पर जिला पंचायत सदस्य अनीता ध्रुव ने किया पलटवार

0
22

News24Carate धमतरी। भाजपा आदिवासी नेत्री जिला पंचायत सदस्य अनीता ध्रुव ने सिहावा विधायक डाॅ. लक्ष्मी ध्रुव के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि पूरे देश में मात्र दो राज्यों में सिमटी कांग्रेस की सरकार का सफाया होना तय देखकर बौखलाहट में अनर्गल बयान बाजी की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की भूपेश सरकार अपने वादों से मुकर रही है, जिससे जनता जवाब स्वरूप आन्दोलन न कर पाए इसलिए अनुमति पूर्व की बाध्यता कर दमन की राजनीति कर रही है। कांग्रेस सरकार अपने आपको जनता का हितैषी का ढकोसला कर रही है। अनीता ध्रुव ने सिहावा के कांग्रेस विधायक डाॅं. लक्ष्मी ध्रुव से सवाल पूछते हुए कहा कि खुद को किसान हितैषी बताने वाली कांग्रेस सरकार किसानों से धान खरीदी के लिए बोरा मांग क्यों कर रहे हैं? गरीबों को प्रधानमंत्री आवास योजना से वंचित क्यों कर दिया है? बेरोजगार युवाओं का बेरोजगारी भत्ता कहां है? मितानिनों के 5000 रूपये मानदेय कब दे रहो हो? स्व सहायता महिला समूहों का कर्ज माफ का क्या हुआ? प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी वादे का क्या हुआ? ऐसे कई चुनावी वादो को सामने रखते हुए कहा कि खुद विधायक ये बताए कि वे अपने क्षेत्र में कितना विकास कार्य किए हैं। अनीता ध्रुव ने कहा कि सिहावा की जनता ने आपको बड़े विश्वास के साथ विधायक का दायित्व दिया है, लेकिन उन्होंने जनता के कितना कार्य किया है। वे जनता के बीच रखें। उन्होंने कहा कि विधायक डाॅ. लक्ष्मी ध्रुव को अपने आका भूपेश बघेल के पास जाकर ज्ञान देना चाहिए। वह अपनी नौटंकी बंद करें, क्षेत्र के गरीब किसान, मजदूर व महिलाओं के विकास के लिए भूपेश सरकार के पास नौटंकी करें, तो क्षेत्रवासियों के कुछ भला हो और भाजपा के प्रति गलत बयानबाजी-नौटंकी बंद करें। अनीत ध्रुव ने कहा कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री व्दारा कच्चे मकान में निवासरत गरीबों को प्रधानमंत्री आवास का लाभ दिया जा रहा है। तथा हर घर पेयजल उपलब्ध हो उसके लिए जल जीवन मिशन चलाया जा रहा है जिसे प्रदेश की कांग्रेस सरकार केंद्रीय योजनाओं को अपना बताकर ढकोसला कर रही है। छत्तीसगढ़ में केन्द्रीय योजनाओं में लगातार गड़बड़ी हो रही है और सत्ता पक्ष के व्दारा जमकर भ्रष्टाचार किया जा रहा है। केंद्रीय योजनाओं को अपनी योजना बताकर कांग्रेस के लोग ढिंढोरा पीट रहे हैं। प्रदेश के विभिन्न विभाग के अधिकारी-कर्मचारी आए दिन अपनी मांगों को लेकर आन्दोलन कर रहें हैं, जिसे प्रदेश की सरकार तानाशाही रवैया अपनाते हुए सुनने को तैयार नही है। उन्होंने कहा कि इसी तरह खाद के नाम पर अमानक खाद को किसानों को थोपने का काम किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ की जनता इन सब बातों को अच्छी तरह जान चुकी है, जिसे आने वाले चुनाव में जरुर कांग्रेस को सबक सिखाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here