नगर पंचायत उतई के अर्थव्यवस्था को बिगाड़ रहे है थोपे गए कर्मचारी

रोशन सिंह@उतई ।नगर पंचायत उतई के अर्थव्यवस्था को बिगाड़ रहे है थोपे गए कर्मचारी,एक एक पद पर दो कर्मचारी।जिसकी जरूरत नही है उसके बावजूद नगर पंचायत में अपनी सेवा दे रहे है,दो सहायक राजस्व निरीक्षक, दो सहायक ग्रेड 3 दो कैशियर जबकि नगर पंचायत उतई में एक सहायक राजस्व निरीक्षक, एक सहायक ग्रेड 3 एक कौशियर कर्मचारी की पात्रता है उसके बावजूद दो कर्मचारी की भरपाई बेवजह नगर पंचायत उतई कर रही है।जिसके वजह से प्लेसमेंट कर्मचारियों की नीयत तिथि में पगार नही हो पा रही है।शासकीय कर्मचारी दो माह का पगार लेकर मौज कर रहे है वही प्लेसमेंट कर्मचारी पगार के लिए फरियाद कर रहे है।नगर पंचायत उतई के अतिरिक्त कर्मचारी को हटाए जाए जिससे प्लेसमेंट कर्मचारियों का पगार समय पर हो पाए।जानकारी के अनुसार नगर पंचायत उतई में 6 से 7 वर्षो से स्वयं के व्यय से ट्रांसफर कराकर आए दो कर्मचारी जो वेतन भत्ता के साथ साथ नगर पंचायत को प्रतिमाह 60 से 70 हजार रुपए का अतिरिक्त भार पड़ रहा है।दोनों कर्मचारियों पर आडिट व एजी आडिट आपत्ति होने के बाद भी सीएमओ द्वारा उन्हें कोई नोटिस भी नही दिया गया।नगर पंचायत ने पदस्थ कैशियर पद पर कार्य कर रहे कर्मचारी को नगर पंचायत में कार्य न कर प्राइवेट कार्य मे संलिप्त होने की शिकायत मिलने पर नोटिस जारी कर दिया गया है नगर पंचायत के जनप्रतिनिधियों को इसकी जानकारी होते हुए इस ओर क्यो ध्यान नही दे रहे जो समझ से परे है।नगर पंचायत के जनप्रतिनिधियों को इस ओर तत्काल निर्णय लेना चाहिए,थोपे हुए कर्मचारियों को बिल्कुल न रखे। इस संबंध में नगर पंचायत उपाध्यक्ष रविन्द्र वर्मा से चर्चा करने पर बताया कि पीआईसी बैठक में अतिरिक्त कर्मचारी के सम्बंध में बात कर हटाए जाने के लिए सीएमओ को कहा गया।लोक निर्माण प्रभारी तोषण साहू ने कहा कि जिसके वजह से नगर पंचायत को अतिरिक्त आर्थिक भार पड़ रहा है उसे तत्काल परिषद में निर्णय लेकर हटाए जाए ।सीएमओ सोहेल कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि अतिरिक्त कर्मचारी की जानकारी शासन को भेज दिया गया है शासन के आदेश मिलने पर कार्यवाही की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!