आप में जज्बा होना चाहिए, हम आप को सफल बनाएंगे-विजय मैराल


भिलाई। कृष्णा इंजीनियरिंग और कृष्णा इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड कामर्स कॉलेज में आज इनडक्शन प्रोग्राम का आयोजन किया गया है। जहां नवप्रवेश वाले छात्र-छात्राओं का कालेज परिसर में स्वागस्त किया गया है। कॉलेज प्रबंधन ने कॉलेज की महत्ता के साथ ही कॉलेज की फैकल्टी और सुविधाओं और कॉलेज के शिक्षण उद्देश को छात्रों के साथ शेयर किया।

कार्यक्रम का शुभारंभ ज्ञान की देवी माता सरस्वती की प्रतिमा की पूजा अर्चना कर दीप प्रज्जवलति कर किया गया है। इस अवसर पर कॉलेज के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री विजय मैराल, डायरेक्टर श्री डॉ.वॉय आर कटरे, कृष्णा इंजीनियरिंग के प्राचार्य डॉ. अजय तिवारी और गणित के विशेषज्ञ जी के गोस्वामी मुख्य रुप से उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन भारती मैम ने किया। इस अवसर पर छात्रों काे संबोधित करते हुए मैनेजिंग डायरेक्टर श्री विजय मैराल ने कहा कि आप सब अब अपने पढ़ाई के अंतिम पड़ाव में है। यह अवसर है, अपने सपनों को साकार करने का। इस दिशा में सबसे बड़ी आवश्यकता अपनी काबिलियत बढ़ाने की है, और उस के लिए आप इस कॉलेज, शिक्षक और यहां की सुविधाओं का पूरी स्वतंत्रता के साथ भरपूर उपयोग कर सकते हैं। हमने पूरी व्यवस्था की है, सिलेबस से हट कर विभिन्न रूप से आपको तैयार करने की, यह अब आप पर निर्भर है । बस खुद में जज्बा रखे और खुद काे साबित करने अपने लक्ष्य को पाने के लिए कोई कसर न छोडे। हम आप की काबिलियत बढायेंगे।
आगे नवप्रवेशी छात्रों का स्वागत करते हुए डॉ. अजय तिवारी ने कहा कि यहां बैठे हर विद्यार्थियों के मन में आंखों में कई सपने है। जिसे पूरा करने केलिए वे इस कॉलेज में प्रवेश लिए है। हर कोई उत्कृष्ट है। हर किसी में संभावनाएं है बढ़िया करने की। कॉलेज के शिक्षक, मैनेजमेंट की तरह सें सभी का खुली बाहों से स्वागत करता हूं और आप सब ने जो भी सपने संजोए है,उन्हें पूरा करेंगे। आज से 3 -4 साल बाद जब इस कॉलेज से पढ़ कर निकलेंगे तो आप सब को खुद पर गर्व महसूस होगा।

आगे विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए डॉ. कटरे ने कहा कि आप में जो भी आशाएं, इच्छाएं, संभावनाएं और जो भी सपने है। उन्हे पूरा करने के लिए ही चेयरमेन आंनद त्रिपाठी ने कृष्णा इंजीनियरिंग के साथ कृष्णा इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड कामर्स कॉलेज शुरू किए है। वे खुद एक शिक्षक है और शिक्षा को नई ऊंचाई पर लेने जाने का प्रयास कर रहे हैं। यह एक अलग तरह का काॅलेज है। यहां सेलेबस के अलावा कम्प्यूटर, स्पोकन इंग्लिश के साथ ही इंडस्ट्रीड विजित, प्लेसमेंट, ऑल ओवर डेवलपमेंट कराते हैं।

अंत में विद्यार्थियों का स्वागत करते हुए उनका हौसला बढ़ाते हुए श्री गोस्वामी ने कहा कि आज कल बच्चे काफी होनहार है, लेकिन वे शॉटकट ज्यादा भरोसा करते हैं। विद्यार्थियों को लॉजिकली स्ट्रांग होना चाहिए। हर चीज को रटिए मत बल्की समझने का प्रयास करें। रोज मेहनत करें। ऐसा नहीं कि परीक्षा के दिन रात भर पढ़े। रोज पढ़िएं और कठी मेहनत कीजिए। अंत में कॉलेज के स्टाफ ने सभी को कॉलेज कैम्प का भ्रमण कराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!