कोरोना महामारी के बाद प्रदेश का आर्थिक स्थिति बिगड़ने नही दिया-आकाश दीक्षित

छुरा। छत्तीसगढ़ प्रदेश स्पोर्ट्स कांग्रेस के प्रदेश सचिव आकाश दीक्षित ने कहा छत्तीसगढ़ का तीसरा बजट 2021-22 पेश किया गया। कोरोना महामारी के बाद जब इस समय छत्तीसगढ़ सरकार को आर्थिक एवं मानसिक रूप से विचलित कर दिया गया था। उसके बाद भी भूपेश सरकार व मंत्रिमंडल ने धैर्य व साहस का परिचय देते हुए मुकाबला किया। छत्तीसगढ़ की आर्थिक स्थिति को बिगड़ने नहीं दिया।छत्तीसगढ़ के लाखों लोग मजदूरी करने दूसरे प्रदेश जाते हैं लाखों मजदूरों को वापस आने उनके घर तक पहुंचाने का कार्य लॉकडाउन के समय दो वक्त का भोजन व्यवस्था। दीक्षित ने कहा दूसरे प्रदेश मे कोचिंग के लिए गए बच्चों को निशुल्क घर वापसी ऐसे बहुत सारे सराहनीय कदम सरकार ने किए है। किसानों का समर्थन मूल्य प्रति एकड़ 15 क्विंटल देना₹2500 में खरीद कर किसानों को भुगतान करना 100 दिन मनरेगा का काम करना बस्तर संभाग के लिए प्रत्येक जिला में बस्तर टाइगर के नाम से पुलिस का गठन सभी विभागों के लिए बजट का प्रावधान किसानों और गांव के विकास के साथ-साथ उद्योगों का भी विशेष ध्यान रखा गया है। यह अनोखा और ऐतिहासिक बजट हैl भूपेश सरकार बजट की सराहना करते हुए गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ की अवधारणा के अनुरूप बताया।खेती के अवसरों को बढ़ावा देने के लिए कोदो,कुटकी को समर्थन मूल्य पर खरीदी। शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए 119 नए स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल 7 नवीन महाविद्यलय 3 कन्या महाविद्यालय सौर सुजला योजना के लिए 530 करोड़ पत्रकारों के दुर्घटना पर 5 लाख का प्रावधान किया जाना। अभिनव प्रयास है यह बजट घरबो नवा छत्तीसगढ़ की मूल अवधारणा को प्रकट करता है। इस बजट के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल वह राजिम विधानसभा के हितैषी विधायक अमितेश शुक्ला का धन्यवाद ज्ञापित प्रेषित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!