देश में कोरोना का काउंटडाउन शुरू, आज सुबह 10.30 बजे लगेगी पहली वैक्सीन

कोरोना संकट के बीच भारत में शनिवार से वैक्सीन  लगनी शुरू हो जाएगी. खुद पीएम नरेंद्र मोदी कोरोना टीकाकारण अभियान की शुरूआत करने वाले हैं. इस बाबत उन्होंने ट्वीट कर बताया कि 16 जनवरी सुबह 10:30 बजे से भारत में COVID-19 टीकाकरण अभियान शुरू होगा. इस अभियान के साथ ही पीएम मोदी CoWIN ऐप भी लॉन्च करेंगे. 

सुबह 10:30 बजे से अभियान शुरू

कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत करने के बाद पीएम मोदी वैक्सीन लगाने वाले हेल्थ वर्कर्स से बातचीत भी करेंगे. इस बातचीत को देश के 3006 वैक्सीन सेंटर पर लोग देख सकते हैं. टीकाकारण अभियान के पहले दिन करीब 3 लाख हेल्थ वर्कर्स को वैक्सीन दी जाएगी. यानी कि पहले दिन सभी सेंटर्स पर 100 लाभार्थियों को टीका लगाया जाएगा. टीकाकारण का समय सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक है. COVID-19 महामारी, वैक्सीन रोलआउट और Co-WIN सॉफ़्टवेयर से संबंधित सवालों के लिए एक 24×7 कॉल सेंटर- 1075 भी स्थापित किया गया है. 

इस बीच वैज्ञानिकों की ओर से भी बयान आया है. जिसमें कहा गया कि हम डॉक्टरों, वैज्ञानिकों और चिकित्सा पेशेवरों के एक समूह हैं, जो भारत में वैज्ञानिक अनुसंधान को बढ़ावा देने के लिए समर्पित हैं. हम आत्म निर्भर होने के अलावा प्रौद्योगिकी और वैज्ञानिक उत्पादों के निर्यातक के रूप में वैश्विक नेता के तौर पर उभर रहे हैं. साथ ही वैक्सीन को लेकर दिए गए बयानों का भी वैज्ञानिकों ने जिक्र किया.
 
कैसे होगा टीकाकारण?

इस मसले पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि Covid-19 वैक्सीन लगवाने के लिए कोविन प्लेटफॉर्म (CoWIN) पर रजिस्टर्ड होना अनिवार्य है. उन्होंने कहा कि QR कोड आधारित वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट सिर्फ उन्हीं लोगों को दिया जाएगा, जिन्होंने कोविन ऐप पर रजिस्ट्रेशन कराया होगा. टीकाकरण के लिए लाभार्थियों को शुक्रवार को आवंटित साइट और समय के साथ एक मैसेज मिलेगा. पहले दिन हर एक सेंटर पर 100 लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी, बाद में इस संख्या को धीरे-धीरे बढ़ाया जाएगा. मालूम हो कि शुरुआती तौर पर 1.65 करोड़ डोज देश भर में भेज दी गई हैं. 

80 लाख लाभार्थियों का पहले से रजिस्ट्रेशन 

स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया है कि इस ऐप के तहत 80 लाख लाभार्थियों का पहले से ही रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है. हालांकि, इस ऐप के जरिए कोई भी रजिस्ट्रेशन नहीं कर सकता है, केवल अधिकारियों को ही इस ऐप का एक्सेस है. आम लोगों के रजिस्ट्रेशन के लिए चार अलग-अलग मॉड्यूल बनाए गए हैं.

ये है टीकाकारण की प्रक्रिया

कोरोना टीकाकारण कार्यक्रम के दौरान वैक्सीन लगवाने के लिए एक फोटो आईडी प्रूफ के साथ ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा. जिसके बाद वैक्‍सीन की उपलब्‍धता और प्रॉयरिटी के आधार पर टीकाकारण का शेड्यूल बनाया जाएगा. फिर आपको SMS भेजकर बताया जाएगा कि वैक्सीन कब और कहां लगनी है. 

‘कोरोना के अंत की शुरुआत’ 

उधर, शनिवार से शुरू हो रहे देशव्यापी टीकाकरण अभियान से पहले स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि यह कदम संभवतः कोविड-19 के अंत की शुरुआत है. उन्होंने शुक्रवार को कहा कि कल एक अहम दिन है. कोरोना के खिलाफ लड़ाई का यह अंतिम चरण है. संभवतः यह कोविड के अंत की शुरुआत है, जो कल से शुरू होने जा रही है. गौरतलब है भारत के टीकाकारण अभियान को दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान कहा जा रहा है. 

क्या हैं सरकार के निर्देश? 

आपको बता दें कि केंद्र सरकार की ओर से जारी निर्देश के मुताबिक, वैक्सीन केवल 18 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों के लिए है. दूसरी खुराक उसी वैक्सीन की होनी चाहिए जिसमें पहली डोज ली गई थी यानी कि वैक्सीन के इंटरचेंजिंग की अनुमति नहीं है. साथ ही वैक्सीन की जिम्मेदारी संभाल रहे लोगों को 14 दिन के अंतराल से अलग किया जाना चाहिए. 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!