निषाद समाज कर्मठ व परिश्रमी समाज: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

0
235


पाटन।आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल “छत्तीसगढ़ क्षेत्रीय निषाद समाज परसुलीडिह केसरा” द्वारा बोरेन्दा में आयोजित महासभा में मुख्य अतिथि के रूप में सम्मिलित हुए थे। महासभा के कार्यक्रम की शुरुआत इष्ट देव भक्त गुहा निषाद एवं श्री रामचंद्र जी की पूजा अर्चना के साथ शुरू हुई। इस अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का समाज के लोगों ने फूल-मालाओं से स्वागत किया और देसी घी के बने बूंदी के लड्डूओं से पहली बार उनके बीच में पहुंचे मुख्यमंत्री का तौलकर अभिनंदन किया।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने निषाद समाज को एक कर्मठ व परिश्रमी समाज के रूप में संबोधित किया।उन्होंने भक्त गुहा निषाद का भी जिक्र किया जिसमें उन्होंने कहा कि भगवान श्री रामचंद्र जी ने सबसे ज्यादा प्रेम व स्नेह भक्त गुहा निषाद से किया। भक्त गुहा निषाद सौम्य और सरल स्वभाव के कारण भगवान के हृदय में वास करते थे और यही कारण है कि निषाद समाज को भगवान श्रीराम ने अपने हृदय में स्थान दिया है। उन्होंने निषाद समाज को सामाजिक, शैक्षणिक व आर्थिक दृष्टि से विकास की ओर अग्रसर कहा। उन्होंने आगे कहा निषाद समाज एक ऐसा समाज है जो समाज सेवा के लिए हर समय प्रथम पंक्ति में खड़ा रहता है। यह समाज समूचे मानव समाज के लिए एक उदाहरण है। उन्होंने आगे कहा समाज की प्रगति और चिंतन मनन के लिए ऐसे आयोजन होते रहने चाहिए।इससे समाज के लोगों के बीच में आपसी समन्वय स्थापित होता है और समाज विकास की ओर अग्रसर रहता है। मुख्यमंत्री ने बताया कि शासन निषाद समाज के उत्थान के लिए लगातार कार्य कर रही है ।शिक्षा,रोजगार से लेकर समाज के परंपरागत मत्स्य व्यवसाय के लिए शून्य प्रतिशत में ऋण मत्स्य विभाग के द्वारा मुहैया करा रही है। उन्होंने समाज के लोगों को इस दिशा में बढ़ चढ़कर भाग लेने के लिए और इस अवसर का ज्यादा से ज्यादा फायदा उठाने के लिए कहा। मुख्यमंत्री ने समाज के लोगों को बताया शासन की योजनाओं का लाभ लेकर कृषक खेती की जमीन को मनरेगा से लोग तालाब में परिवर्तित कर सकते हैं। उन्होंने आगे कहा आज छत्तीसगढ़ में मछली पालन में 9% की वृद्धि हुई है मत्स्य बीज उत्पादन में 13% की। उन्होंने समाज के लोगों को कहा आप भी मत्स्य बीज उत्पादन के कार्य से जुड़े इसके विक्रय की व्यवस्था शासन कराएगी।

इस अवसर पर कुंवर सिंह निषाद विधायक गुंडरदेही ने निषाद समाज के उपस्थित लोगों शासन की मत्स्य विभाग की योजनाओं का लाभ लेने के लिए प्रेरित किया।उन्होंने मुख्यमंत्री को मत्स्य पालन को कृषि का दर्जा देने के लिए और समाज के लोगों के उत्थान के लिए धन्यवाद कहा।
इस अवसर पर आशीष वर्मा ओएसडी मुख्यमंत्री, अशोक साहू उपाध्यक्ष जिला पंचायत, घनश्याम निषाद अध्यक्ष जिला निषाद समाज, देवकुमार निषाद अध्यक्ष पाटन तहसील व सदस्य महुआ कल्याण बोर्ड, बी.आर. निषाद उपाध्यक्ष जिला संगठन निषाद समाज, देवनाथ निषाद उपसंगठन सचिव जिला संगठन निषाद समाज, ईश्वर निषाद अन्य पिछड़ा वर्ग ब्लाक अध्यक्ष जामगॉव, सुरेश निषाद जनपद सदस्य सभापति पाटन, रमन टिकरिया जनपद पंचायत सभापति पाटन, राजेश ठाकुर ब्लाक अध्यक्ष जामगॉव, कमलेश ठाकुर सरपंच ग्राम पंचायत बोरेंदा, सुश्री योगेश्वरी साहू जनपद सदस्य पाटन, बहुर निषाद सोसायटी सदस्य, तेजराम सिन्हा सेक्टर प्रभारी, चोवाराम निषाद अध्यक्ष परसुलीडिह-केसरा परिक्षेत्र, तिहारू राम निषाद अध्यक्ष परसुलीडिह पाली, कृष्ण कुमार निषाद अध्यक्ष केसरा पाली, कलेक्टर डॉ सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे, एसपी बद्रीनारायण मीणा और अन्य जनप्रतिनिधि गण व ग्रामवासी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here