पैरी नदी मे अवैध बिजली कनेक्शन की भरमार,बिजली विभाग की सह पर चल रहा है अवैध विद्युत कनेक्शन और हुकिंग का कारोबार

0
193

परमेश्वर कुमार साहू@गरियाबंद।जीवनदायिनी पैरी नदी इन दिनों अवैध रेत खनन के साथ-साथ अवैध रूप से सिंचाई के नाम से जाने जाना लगा है।
जिला मुख्यालय के किनारे से निकला पैरी नदी के किनारे आसपास अवैध बिजली कनेक्शन खींचा गया है धान की फसल एवं सब्जी बाड़ी खूब फल फूल रहे हैं। संबंधित बिजली विभाग को जानकारी दी जा चुकी है बावजूद इसके अब तक कोई कार्यवाही नहीं किया गया।जब पड़ताल किया गया तो पाया गया कि किसानों ने न संबंधित बिजली विभाग से कोई कनेक्शन नहीं लिया है कृषि कनेक्शन के नाम से उनके पास किसी प्रकार का कोई दस्तावेज नहीं है बार-बार नदी का पानी सिचाई के लिए उपयोग होने से नदी का जल स्त्रोत और जल संकट का खतरा मंडरा रहा है ।साथ ही नदी किनारे रवि फसल लगाने के लिए जल संसाधन विभाग से कोई परमिशन नहीं है ।इस प्रकार बिजली विभाग और जल संसाधन विभाग की मेहरबानी से नदी का अस्तित्व खतरे में पड़ रहा है ।साथ ही जहां नदी किनारे कनेक्शन दिया गया है वहां हाथियों का आवागमन क्षेत्र है ।जिसके चलते अवैध रूप से बिजली कनेक्शन से जंगली जानवरों की जीवन खतरे में है।लेकिन बिजली विभाग व जल संसाधन विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों को कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि साहब को ऑफिस से बाहर निकलकर इस ओर झांकने तक की फुर्सत नहीं है। जिस कारण इस क्षेत्र में जो बिजली उपभोक्ता इमानदारी से बिजली बिल जमा कर रहे हैं उन्हें अधिभार झेलना पड़ रहा है इस प्रकार बिजली विभाग की लापरवाही से आम जनता को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है ।लेकिन जानकारी के बाद भी अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई।जो जिम्मेदार अधिकारियों के कार्यशैली पर सवाल खड़ा कर रहा है। वही इस मामले को लेकर विद्युत विभाग के ईई पुकेश साहू द्वारा जांच कर उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here