Homeअन्यश्यामलाल सोम के नाम पर हुआ सिविल अस्पताल नगरी का नामकरण

श्यामलाल सोम के नाम पर हुआ सिविल अस्पताल नगरी का नामकरण

विधायक लक्ष्मी ध्रुव की अनुशंसा पर शासन ने दिया आदेश

स्वतंत्रता आंदोलन के नायक थे श्यामलाल

आशा शर्मा@सिहावा नगरी। नगरी क्षेत्र के स्वंतत्रता संग्राम सेनानी स्व श्यामलाल सोम के नाम पर सिविल अस्पताल नगरी का नामकरण हुआ है, अस्पताल के गेट में लगा बोर्ड स्वंतत्रता सेनानी के नाम से शोभित हो रहा है। विदित हो कि स्वंतत्रता के आंदोलन में नगरी क्षेत्र का भी खास प्रतिनिधित्व था, यहां के आजादी के दीवानों ने कई बड़े आंदोलनों में सक्रिय भूमिका निभाई थी, अंग्रेजो को ललकारने वालों में स्व श्यामलाल सोम का नाम प्रमुखता से लिया जाता है।

05 जनवरी 1907 में जन्मे श्यामलाल जब जवानी की दहलीज पर पहुंचे जब स्वतंत्रता आंदोलन का शंखनाद हुआ, क्षेत्र के अन्य सेनानियों के साथ श्यामलाल सोम भी आंदोलन में कूद पड़े। उन्होंने नगरी क्षेत्र में जंगल सत्याग्रह का नेतृत्व किया, उस समय वे गांधी जी से प्रभावित होकर बीटीआई की पढ़ाई छोड़कर नगरी आये थे। जंगल सत्याग्रह के कारण उन्हें अंग्रेजो ने 6 माह के लिए जेल में डाल दिया। जेल से बाहर आते ही वे फिर स्वतंत्रता आंदोलन में कूद गए। नगरी के बाद रुद्री नवागांव में जंगल सत्याग्रह का नेतृत्व कर रहे थे लेकिन उन्हें पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया। इसके अलावा झंडा सत्याग्रह नागपुर में भाग लेने पर, विदेशी वस्तु की दुकान के सामने धरना देने पर भी उनकी गिरफ्तारी हुई। आजादी आंदोलन में श्री सोम कुल 5 बार गिरफ्तार हुए और लम्बा समय जेल में बिताया। दो गांवो के मालगुजार के पुत्र होने के बाद भी उन्होंने कभी वाहन में यात्रा नहीं की, हमेशा पैदल यात्रा कर आजादी का अलख जगाते रहे। देश को जब आजादी मिली तो नगरी में श्यामलाल सोम ने ही झंडा पहराकर आजादी की नई सुबह का स्वागत किया। आजादी मिलने के बाद विभिन्न अवसरों पर श्यामलाल सोम का सम्मान हुआ। स्वंतत्रता की 25 वीं वर्षगांठ के अवसर पर तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने ताम्रपत्र सौंपा तथा स्वंतत्रता की 50वी वर्षगांठ पर तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने स्व सोम के नाम प्रशस्ति पत्र देकर उनके स्वंतत्रता आंदोलन में दिए गए योगदान को अविस्मरणीय बताया। वहीं उनके नाम पर सिविल अस्पताल नगरी का नामकरण करने सिहावा विधायक व मध्य क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण की उपाध्यक्ष डॉ लक्ष्मी ध्रुव ने अनुशंसा की थी, उन्होंने सीएम के समक्ष भी प्रमुखता से मांग रखी कि नगरी अस्पताल जहां रोजाना इलाज के लिए सैकड़ो लोग पहुंचते है उसका नाम स्वंतत्रता सेनानी स्व श्यामलाल सोम के नाम पर कर क्षेत्र का गौरव बढ़ाया जाए। विधायक की मांग पर छत्तीसगढ़ शासन स्वास्थ्य एंव परिवार कल्याण विभाग के अवर सचिव ने आदेश जारी किया, जिस पर नगरी सिविल अस्पताल का नामकरण स्व सोम के नाम पर हुआ है। समाज के लोगो ने विधायक डॉ लक्ष्मी ध्रुव और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रति आभार प्रकट किया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments