Homeजनसमस्यामनरेगा कार्य केंद्र के सौ दिनों के साथ राज्य भी पचास दिनों...

मनरेगा कार्य केंद्र के सौ दिनों के साथ राज्य भी पचास दिनों का रोजगार उपलब्ध कराये—-हर्षा लोकमनी चन्द्राकर*–

*मनरेगा के तहत कच्ची नाली निर्माण कार्य मे मजदूरों के बीच लगाई चौपाल*-——————————- पाटन– विधान सभा के ग्राम अरसनारा मे मनरेगा कार्य मे कार्यरत मजदूरों के बीच जाकर भाजपा नेत्री एव सदस्य जिला पंचायत दुर्ग श्रीमती हर्षा चन्द्राकर ने आजादी के पचहत्तर वर्ष पर केंद्र शासन की विभिन्न योजनाओं की विस्तार से चर्चा चौपाल के माध्यम से किया । श्रीमती हर्षा चन्द्राकर ने आमजनों से चर्चा करते हुए कहा कि हमारे देश को आजाद हुए पचहत्तर साल हो गए है जिसे केंद्र की मोदी सरकार अमृत महोत्सव के रूप मना रही है जिसके परिणाम स्वरूप पूरे जिले में पचहत्तर नवीन अमृत सरोवर का निर्माण होना है, आज हमे सर्वाधिक जरूरत जल संचय करने की है आप सभी पूरी ईमानदारी के साथ मनरेगा मे कच्ची नाली निर्माण कार्य को करें। प्रधानमंत्री आवास के संबंध में जानकारी लेने पर ग्रामीणों में राज्य सरकार के प्रति काफी आक्रोश दिखाई और बताया कि तीन वर्ष से किसी का आवास नहीं आया है, पिछले सरकार के समय के निर्माण हुआ घर का भी पूरा राशि नहीं दिया है। जिस पर हर्षा चन्द्राकर ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी प्रधानमंत्री आवास योजना से वंचित हितग्राहियों के साथ खड़ी है। गरीबो के हित में भाजपा एक बड़ा आंदोलन खड़ा करने जा रही है जिसमे आवास योजना प्रत्येक हितग्राहियों का सहयोग विशेष रूप से आपेक्षित है । प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत केंद्र की मोदी सरकर ने जो लक्ष्य छत्तीसगढ़ के लिए दिया था उसे प्रदेश सरकार पूरा करने में असमर्थता जताते हुए गरीबों के आवास को छल पूर्वक रोके रखा है । केंद्र सरकार ने पूरा पैसा हितग्राहियों के लिए जारी किया था लेकिन राज्य सरकार अपने हिस्से का राज्यांश नही दे रही है और गरीबो का आवास छिनने का काम कर रही है । ग्रामीणों ने बताया कि जल जीवन मिशन का कार्य अधूरा होने के कारण पेयजल की समस्या गंभीर है, निर्माणधीन पानी टंकी निर्माण हो गई है, किंतु आज भी पानी सप्लाई नहीं हो रहा है। बहुत से घरों मे अभी भी पानी कनेक्शन की पाईप लाइन नहीं हुआ है। ठेकेदार द्वारा अधूरा पाईप लाईन कार्य अधूरा कर छोड़ दिया गया है। कई लोगो का राशन कार्ड नही बनने से फ्री चावल योजना से वंचित होना पड़ रहा है। ग्रामीण ने साठ वर्षो से अधिक उम्र वालों को पेन्शन नहीं मिलने का कारण सर्वे सूची मे नाम नहीं होना बताया है उक्त विषय मे जो विकलांग है, जिनका विकलांगता प्रमाण पत्र होने पर भी पेंशन सूची मे नाम नहीं होने पर अपात्र कर दिया जाता है। श्रीमती हर्षा चंद्राकर ने कहा कि जितने भी हितग्राहीयों का आवास नहीं बना है वह सभी अपने अपने नाम पर आवेदन पंचायत स्तर पर आवेदन करेंगे और ” मोर आवास मोर अधिकार” के तहत अपने अधिकार को मांगने हेतु प्रदेश व्यापी सम्मेलन दुर्ग मे आप सभी उपस्थित होंगे। सरपंच हरिशंकर साहू ने बताया कि राशन कार्ड बनाने एवं नया जॉब कार्ड बनाने हेतु जो आवेदन प्राप्त हुआ है उनको सबंधित शाखा जनपद कार्यालय भेज दिया गया है। जैसे बनकर आता है आप लोगों को प्रदान किया जाएगा। मजदूरों ने मांग रखी है कि साल भर में उन्हें अभी केवल एक जॉब कार्ड में 100 दिन का काम मिलता उसे अतिरिक्त जो 50 दिनों का कार्य पिछले राज्य सरकार देता था उन्हें वर्तमान राज्य सरकार पुन: लागु करें। इस अवसर पर श्रीमती हर्षा चंद्राकर सदस्य ज़िला पंचायत दुर्ग, उत्तर मंडल पाटन अध्यक्ष श्री लोकमनी चन्द्राकर, सरपंच ग्राम पंचायत अरसनारा हरिशंकर साहू, वरिष्ठ नागरिक पुनाराम साहू, सेवानिवृत्त शिक्षक भगवती प्रसाद बनपेला, बैसाखु साहू, सुखचैन साहू, मंथीर साहू, गुरुदेव साहू, कृष्णा साहू,अनुज वर्मा, दुर्योधन साहू, ईश्वरी गजपाल, रतन यादव, हनुमान वैष्णव, राजकुमार वर्मा, कृष्णा चंद्राकर, आदर्श साहू, संतु पटेल, पुष्पा साहू, फुलेश्वरी , ज्योति यादव,ओमप्यारी वर्मा, संतोषी साहू, हिरौदी वर्मा, रामेश्वरी कौशिक, राधा साहू, अमरीका ठाकुर, साधना साहू, हेमलता ठाकुर,उषा यादव, निर्मला ठाकुर, किरण वर्मा, मंगतीन यादव, हुलसी साहू,भानबती साहू, यशोदा पटेल, चंद्रिका कौशिक, सुशीला, कौशिल्या,सीमा, मीना, चमेली, रानी,सुशीला, नेहा, लता, उमा, राधा,गीता,लक्ष्मी ,कमला, कांति, योगेश्वरी, प्रेमीन, शकुन, दुलारी, अंजनी, चित्ररेखा, पूर्णिमा, कुंती, भावना, सावित्री, भुनेश्वरी, प्रतिमा, रूखमणी, सरिता,सुशीला, परमिला,शारदा, सहित सैकड़ों की संख्या में मनरेगा के जॉबकार्ड धारी उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments