Homeराजनीतिभूपेश सरकार को लेकर रमन, सरोज सहित भाजपा नेताओं के बयान हास्यास्पद

भूपेश सरकार को लेकर रमन, सरोज सहित भाजपा नेताओं के बयान हास्यास्पद

  • मिथ्या आरोप लगाने की बजाय सत्य और तथ्य के साथ बात करें भाजपा नेता
  • किसान आंदोलन को कुचलने वाले बीजेपी नेता किस मुंह से किसान हित की बात कर रहे – राजेंद्र साहू

दुर्ग। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री राजेंद्र साहू ने भूपेश सरकार को लेकर भाजपा नेता रमन सिंह, प्रेम प्रकाश पांडेय, सरोज पांडेय के बयानों को हास्यास्पद बताया है। राजेंद्र ने कहा कि भाजपा नेता राज्य की अर्थ व्यवस्था के साथ ही किसानों की दुर्दशा का सवाल उठा रहे हैं। अगर वे सचमुच राष्ट्रीय और प्रादेशिक स्तर के नेता हैं तो तथ्य और सत्य पर बात करें। राजेंद्र ने चुनौती देते हुए कहा कि भाजपा नेता तथ्यों के साथ बताएं कि किसानों से 15 साल तक किस रेट पर धान खरीदा गया और आज किस रेट पर धान खरीदी हो रही है।

राजेंद्र साहू ने सवाल करते हुए कहा कि भाजपा नेताओं को किसानों की कब से फिक्र होने लगी। भाजपा ने किसानों का किस तरह दमन किया है, यह प्रदेश और देश की जनता नहीं भूली है। तीन काले कानूनों का विरोध करने पर मोदी सरकार के केंद्रीय मंत्रियों और भाजपा नेताओं ने किस तरह आंदोलन खत्म करने के लिए हथकंडे अपनाए? एक केंद्रीय मंत्री के पुत्र ने तो आंदोलन कर रहे किसानों को ही कार से कुचल दिया। यह किसी से छिपा नहीं है।

राजेंद्र ने कहा कि भूपेश सरकार ने सत्ता संभालने के दो घंटे के भीतर साढ़े 10 हजार करोड़ रुपए का कर्ज माफ कर दिया। सिंचाई कर माफ किया गया। 2640 रुपए प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदी की जा रही है। भूपेश सरकार ने किसानों की समृद्धि का रास्ता खोला है। छत्तीसगढ़ के किसान खुशहाल हुए हैं। दूसरे प्रदेश के किसान छत्तीसगढ़ की किसान हितैषी सरकार की तारीफ कर रहे हैं। किसानों की समृद्धि के लिए काम करने के कारण ही भाजपा नेताओं के पेट में क्यों दर्द हो रहा है।

राजेंद्र ने कहा कि मोदी सरकार अंबानी, अडानी के हजारों करोड़ रुपए का कर्ज माफ करती है। भूपेश सरकार अन्नदाता किसानों का कर्ज माफ करती है। यही भाजपा और कांग्रेस में फर्क है। भाजपा नेताओं को बताना चाहिए कि 15 साल में कितने किसानों का कर्ज माफ किया? भाजपा नेताओं को तथ्यों के आधार पर बताना चाहिए कि पिछली सरकार के कार्यकाल में प्रदेश में स्वास्थ्य और शिक्षा का स्तर क्या था और आज क्या है।

तथ्यों के आधार पर भाजपा नेता बताएं कि ग्रामीण इलाकों का विकास, किसानों की समृद्धि, सड़कों की हालत, स्कूल और अस्पतालों में सुविधाओं का स्तर रमन सरकार के कार्यकाल में कैसा था और आज भूपेश सरकार के कार्यकाल में क्या स्थिति है। पिछली सरकार के कार्यकाल में प्रदेश में सिंचाई के साधन, बेरोजगारी और कुपोषण की स्थिति क्या थी? और आज भूपेश सरकार के 4 वर्षीय कार्यकाल में क्या है। भाजपा नेता इन सभी तथ्य और सत्य के आधार पर जब विचार मंथन करेंगे तो पता चलेगा कि रमन सरकार के कार्यकाल में सारी सुविधाएं गर्त में थी, वहीं 4 साल की भूपेश सरकार ने उपलब्धियों का आकाश छू लिया है।

राजेंद्र ने कहा कि यह कहना कि केंद्र सरकार समर्थन मूल्य पर किसानों से धान खरीदी कर रही है तो सरोज, रमन सिंह को यह भी बताना चाहिए कि एमपी, हरियाणा, पंजाब, असम, गुजरात सरीखे भाजपा शासित राज्यों में किसानों को 12 सौ या 13 रुपए प्रति क्विंटल की दर से धान क्यों बेचना पड़ रहा है। किसानों, मजदूरों सहित हर वर्ग के हितों के लिए फैसला करने वाले सीएम भूपेश बघेल को दो बार राष्ट्रीय स्तर पर हुए सर्वे के आधार पर सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री चुना गया है, यह तथ्य भी भाजपा नेताओं को नहीं भूलना चाहिए। राजेंद्र ने कहा कि भाजपा नेता पिछली सरकार और वर्तमान सरकार के कार्यों का व्यापक स्तर पर तुलनात्मक अध्ययन कर लें, उन्हें आईने में अपनी सरकार की बदरंग तस्वीर साफ नजर आ जाएगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments