Homeराजनीतिआप ने दिवंगत पति पत्नी की नाबालिग पुत्री को 10-10 लाख व...

आप ने दिवंगत पति पत्नी की नाबालिग पुत्री को 10-10 लाख व आवास देने की मांग की

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी से लगे कुम्हारी के ओव्हर ब्रिज पर लोक निर्माण विभाग व छत्तीसगढ़ सरकार की लापरवाही के कारण देवांगन परिवार पति-पत्नी दिवंगत हो गए हैं।उनकी एकमात्र नाबालिग पुत्री ईश्वर की कृपा से जीवित बच गई है। कलेक्टर दुर्ग व राज्य सरकार आवश्यक कार्यवाही करने, गिरफ्तारी करने जैसी बातें कर मामले को ठंडे बस्ते में डाल रहे हैं। आम आदमी पार्टी ने इस अति संवेदनशील दुर्घटना में एकमात्र बच्ची नाबालिग पुत्री को 10-10 रु मुआवजा व आरडीए या गृह निर्माण मंडल से एक आवास देने की मांग करते हुए छत्तीसगढ़ शासन से अपील की है कि दिए जाने वाले मुआवजे को नाबालिक के खाते में सावधि जमा कर उससे प्राप्त ब्याज की राशि से उसके जीवन संचालन किया जावे। आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कोमल हूंपेंडी एवं विजय कुमार झा ने कहां है कि ओवरब्रिज निर्माण में शासन व ठेकेदार की गंभीर लापरवाही के कारण देवांगन परिवार के पति पत्नी दोनों दिवंगत हुए हैं तथा एक कार भी उसी समय 35 फीट नीचे पुल से गिरी थी। पति-पत्नी घटनास्थल पर ही दिवंगत हो गए, वही नाबालिक बच्ची गंभीर अवस्था में एम्स में इलाज प्राप्त कर वापस अपने घर पहुंच गई है। इस अतिसंवेदनशील घटना में राज्य सरकार, लोक निर्माण मंत्री, व कलेक्टर दुर्ग केवल त्वरित कार्यवाही करने, गिरफ्तारी करने व मुआवजा देने की बात कर रही है। लेकिन घटना के 5 दिन बाद भी किसी प्रकार का मुआवजा या सहायता उस एकमात्र बच्ची नाबालिक बच्ची को प्राप्त नहीं हुआ है। सरकार भले न करें ईश्वर ने बेटी बचाओ योजना को लागू कर उस देवी स्वरूपा कन्या को सुरक्षित बचा लिया है। आम आदमी पार्टी के नेता दुर्गा झा, महेन्द बिसेन,पवन सक्सेना, एमएम हैदरी, केएस नायडू, सूरज उपाध्याय, उत्तम जयसवाल, मुन्ना बिसेन, वीरेंद्र पवार, अली हफीज, सागर क्षीरसागर, मो काशिफ, कलावती मार्को, शंकर सिंह, अनुषा जोसेफ, प्रसन्न पंड्या, प्रद्युमन, हरविंदर, नीरज चंद्राकर, पलविंदर सिंह, नरेंद्र ठाकुर, आर एस ठाकुर अधिवक्ता, सीएल दुबे, आदि कार्यकर्ताओं ने परिवार में बचीं एकमात्र नाबालिक उत्तराधिकारी कन्या को माता पिता के दिवंगत होने पर न्यूनतम 10-10 रुपए आर्थिक मुआवजा देकर उसके खाते में सावधि जमा उसके बालिक होते तक किये जाने की मांग करते हुए उसके ब्याज से उसके संरक्षक परिवार के सदस्य उसका जीवन पालन की व्यवस्था करेंगे साथ ही उस बच्ची को बालिक होने पर एक शासकीय आवास रायपुर विकास प्राधिकरण अथवा गृह निर्माण मंडल से दिए जाने की मांग मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू जिनके निर्वाचन क्षेत्र के गृह जिले की घटना है, सहायता व मुआवजा दिए जाने की मांग की है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments