Homeजनसमस्यादो सूत्रीय मांगो को लेकर जीवन दीप समिति के कर्मचारी तीन दिन...

दो सूत्रीय मांगो को लेकर जीवन दीप समिति के कर्मचारी तीन दिन से हड़ताल पर रहे,,प्रदेश स्वास्थ्य कर्मचारी संघ ने मांगो को बताया जायज,,शासन से मांग पूरा करने अपील

भिलाई== स्वास्थ्य विभाग केजीवन दीप समिति के कर्मचारी तीन दिन की हडताल पर रहे प्रदेश महामंत्री सैय्यद असलम ने दुर्ग जिले के घरना पडाल पर पहुंच कर जीवन दीप समिति के कर्मचारियों की मांगों को जायज बताते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव से अपील की है कि दो सूत्रीय मांगों पर तत्काल निर्णय लेने के लिए सचिव स्वास्थ्य को निर्देश जारी करे प्रदेश महामंत्री सैय्यद असलम ने बताया कि सभी जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों मे जीवन दीप समिति के माध्यम से न्यूनतम मजदूरी पर आया, वार्ड वाय ,स्वीपर ,वाहन चालक, डाटा एंट्री आपरेटर, सफाई कर्मी भर्ती कराया गया जिनको 2000 से 4500 रूपये मासिक मानदेय दिया जाता है हर जिलो मे कलेक्टर जिला अस्पताल के लिए प्रमुख होते है वही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र स्तर के लिए अनुविभागीय अधिकारी ओर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्तरों पर तहसीलदार प्रमुख होते है इनसे अस्पताल प्रबंधन नियमित कर्मचारियों के भांति कार्य लेता है जबकि वर्तमान मे शासन कुशल व अध्र्द कुशल की न्यूनतम मजदूरी प्रति दिवस 470 रूपये व 250 प्रति दिवस तय है इस हिसाब से इनको न्यूनतम 11000 रूपये मानदेय दिया जाना चाहिए जीवन दीप समिति के कर्मचारी संघ दुर्ग अध्यक्ष श्रीमती सरस्वती चंद्राकर का कहना हमारी दो सूत्रीय मांग है सभी जीवन दीप समिति मे कार्य करने वालो को कलेक्टर दर पर न्यूनतम मजदूरी का भुगतान हो ओर नियमित भर्ती मे 50 प्रतिशत पद इन कर्मचारियों के लिए आरक्षित किया जाए मांग को सर्मथन देने छ ग प्रदेश स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के उप प्रांताध्यक्ष प्रमेश पाल संभागीय अध्यक्ष अजय नायक, जिला अध्यक्ष सत्येन्द्र गुप्ता ,जिला सचिव खिलावन चंद्राकर, संगठन सचिव धनीराम ठाकुर उपस्थित रहे इस दौरान प्रर्दशन मे जीवन दीप समिति के कर्मचारी पाटन धमधा निकुम सुपेला भिलाई 3 व जिला अस्पताल से पहुंचे ओर अपनी मांगों के समर्थन मे नारे लगाने के साथ रैली निकाली

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments