📡 रिपोर्टर विक्रम कुमार नागेश गरियाबंद

कलेक्टर श्री छतर सिंह डेहरे ने आज वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के जरिए जिला प्रमुख और विकासखंड स्तरीय अधिकारियांे की विभागीय कार्यो की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की अद्यतन स्थिति की जानकारी ली। कलेक्टर ने अधिकारियांे को शासन द्वारा कोविड-19 के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए जारी दिशा-निर्देशों से अवगत कराते हुए कहा कि जिला प्रमुख अधिकारी संबंधित विभाग के विकासखंड स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक स्वान वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लेना सुनिश्चित करेंगे।

जिला स्तरीय समीक्षा बैठकें भी वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ही होगी। कलेक्टर श्री डेहरे ने कोविड-19 के बढ़ती संक्रमण के दौरान अधिकारी-कर्मचारियों को निर्धारित मुख्यालय में ही रहकर कार्य संपादित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कोरोना के चलते कार्यालय बंद होने की स्थिति में वर्क फ्राम होम से कार्य निपटाने के सुझाव दिये। कलेक्टर ने जिले से अन्यत्र नगरों से आवाजाही करने वाले अथवा अवकाश उपरांत कार्यालय आने के पूर्व अधिकारी-कर्मचारियों को कोरोना जांच कराने के निर्देश दिये। साथ ही जांच रिपोर्ट के आधार पर ही कार्यालय में उपस्थिति सुनिश्चित करने कहा। उन्होंने कार्यालयों में भी सोशल-फिजीकल डिस्टेंसिंग व कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का गंभीरता पूर्वक पालन करने के निर्देश दिये।

समीक्षा के दौरान महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी ने बताया कि जिले में 01 सितम्बर से 30 सितम्बर तक पोषण माह आयोजित किया जा रहा है। कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा , पंचायत एवं ग्रामीण विकास सहित सभी विभागो की भागीदारी से कंटेनमेंट जोन को छोड़कर 14 सितम्बर से आंगनबाड़ी केन्द्रों में गरम भोजन व पुरक पोषण आहार की व्यवस्था प्रारंभ की गई है। खाद्य विभाग के अधिकारी ने बताया कि जिले में 38 सहकारी समितियों के 62 उपार्जन केन्द्रों के माध्यम से धान खरीदी की जाती है। विगत वर्ष 71 हजार किसानों की पंजीयन किया गया था। इस वर्ष पंजीयन हेतु सूची राजस्व विभाग को उपलब्ध करा दी गई है। जिले में 85 प्रवासी मजदूरांे का राशन कार्ड जारी किया जायेगा। कलेक्टर ने खाद्य अधिकारी को आगामी दस दिवस के भीतर उक्त कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होंने वन अधिकार पट्टा की समीक्षा करते हुए ग्राम स्तर पर सूचना का प्रारूप और अपील प्रस्तुत करने की प्रमाण पत्र व लंबित आवेदनों की जानकारी शीघ्र उपलब्ध कराने संबंधित अधिकारी को निर्देशित किया।

राजस्व विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जिले में 85 प्रतिशत गिरदावरी कार्य पूर्ण हो चूका है। 20 सितम्बर तक शत-प्रतिशत गिरदावरी कार्य कर लिया जायेगा। सिविल सर्जन ने बताया कि जिले में 10 हजार 299 कोरोना सैम्पल लिये जा चुके हैं। जिसमें 762 पाॅजिटिव पाये गए है, वहीं 505 रिकवर हुए है, 158 होम आइसोलेशन में है। जिले की कोविड हाॅस्पिटल व पाॅलिटेक्निक आइसोलेशन सेन्टर में पर्याप्त बेड उपलब्ध है। जिले में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस का आयोजन 23 सितंबर से 30 सितंबर 2020 तक आयोजन किया जायेगा। जिसमें समुदाय स्तर पर मितानिन एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा 1 से 19 वर्षीय बच्चें को कृमि की दवा एल्बेन्डाजोल गृह भ्रमण कर खिलायी जायेगी। एल्बेन्डाजोल की खुराक 1 से 2 वर्ष के बच्चों का आधी गोली पीसकर तथा 3 से 19 वर्ष के आयु के बच्चोे ंको पूरी गोली दी जायेगी। जिले में 1 से 19 वर्ष के लगभग 2 लाख 23 हजार 48 बच्चों को एल्बेन्डाजोल की गोली खिलाए जाने का लक्ष्य हैं। राज्य व जिला स्तर पर संबंधित अधिकारी-कर्मचारी का प्रशिक्षण संपन्न किया जा चुका है।

समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को अंग्रेजी माध्यम स्कूल में प्रवेश प्रक्रिया और स्कूल मरम्मत कार्य शीघ्र पूर्ण कर लेने, पी.एच.ई के अधिकारियों को जिले में जल जीवन मिशन में तत्परतापूर्वक प्रगति लाने, निर्माण कार्य एजेन्सी विभाग को पुल-पुलिया और सड़को की मरम्मत कराने तथा पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियो को गौठान व्यवस्था और गोधन न्याय योजना के बेहतर ढंग से संचालन पर विशेष ध्यान देने निर्देशित किया। इस अवसर पर डी.एफ.ओ श्री मयंक अग्रवाल , अपर कलेक्टर श्री जे.आर. चैरसिया और जिला प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे।