📡 रिपोर्टर विक्रम कुमार नागेश गरियाबंद

लोगों ने कहा कोरोना वारियर्स का ऐसा ही होना चाहिए सम्मान
गरियाबंद की एक बेटी ने कोरोना मरीजों तथा अन्य मरीजों की लगातार सेवा कर मिसाल पेश की है NHMMI हॉस्पिटल में पदस्थ बेटी आज लगातार 8 महीने ड्यूटी करने के बाद आज जब वापस लौटी तो मोहल्ले वासियों ने फूल बरसाए बाजे गाजे के साथ स्वागत किया, और कहा कि यही है असली कोरोना वारियर।
मोहल्ले वासियों ने कि पुष्प वर्षा
नगर के वरिष्ठ नागरिक रहे स्वर्गीय प्यारेलाल सिन्हा की सुपुत्रि ओमिता सिन्हा वैसे तो 2 साल से NHMMI हॉस्पिटल में पदस्थ हैं मगर बीते जनवरी माह से स्वास्थ्य सेवाओं के बदलते हालात के चलते उन्होंने छुट्टी नहीं ली और लगातार मरीजों की सेवा में तत्परता से जुटी रही इस बीच निजी चिकित्सालयों को भी कोविड-19 मरीज के इलाज की अनुमति मिलने के बाद सर्वाधिक मरीज एमएमआई अस्पताल पहुंचने लगे तो गरियाबंद की बेटी ओमिता सिन्हा की भी ड्यूटी कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज में लगा दी गई परिवार वाले इस ड्यूटी के चलते काफी डरे हुए जरूर थे मगर कभी पीछे हटने को नहीं कहा कई दिन तक कोविड-19 ड्यूटी के बाद आखिर ऐसा भी समय आया जब मरीजों की सेवा करते करते खुद ओमिता भी इसकी चपेट में आ गई मगर ओमिता ने हिम्मत नहीं हारी और उसी अस्पताल में इलाज के बाद स्वस्थ होने तथा क्वॉरेंटाइन टाइम गुजारने के बाद पुनः कोरोना मरीजों की सेवा में जुट गई अंततः अब पित्र मोक्ष कार्यक्रम में शामिल होने 8 महीने बाद ओमिता ने छुट्टी ली घरवालों और मोहल्ले वासियों को किसी तरह की कोई परेशानी होने की आशंका ना रहे इसलिए आने के पहले उन्होंने अपनी कोरोना की जांच भी कराई और आज जब वह गरियाबंद पहुंची तो उसके मोहल्ले वासियों ने उसका जोरदार स्वागत किया ढोल नगाड़े बजाए गए पुष्प वर्षा की गई मोहल्ले वासियों के स्वागत से नगर की बेटी भावुक भी हो गई।

बहन के कार्य पर पूरे परिवार को है गर्व- पंकज

ओमिता के भाई पंकज सिन्हा ने बताया कि लगातार 8 महीने ड्यूटी और परिवार से ना मिल पाना पूरे परिवार के लिए काफी कठिन था मगर लोगों की जान बचाने की ड्यूटी थी इसलिए परिवार कुछ कह नहीं पाया हमें गर्व है कि बहन ने देश के कठिन समय में मरीजों की सेवा कर नगर और परिवार को गौरवान्वित किया।
ओमीता दूसरों के लिए भी प्रेरणा बनी- गफ्फु मेमन
गरियाबंद नगर पालिका के अध्यक्ष गफ़्फ़ु मेमन ने संदेश जारी करते हुए कहा कि ओमिता सिन्हा ना सिर्फ नगर का गौरव बनी बल्कि दूसरों के लिए प्रेरणा भी दे रही है लगातार 8 महीने ड्यूटी बिना छुट्टी लिए करना बड़ी बात है ऐसे कोरोना वारियर्स मैं गरियाबंद नगर की ओर से प्रणाम करता हूं हम ऐसे लोगों का भविष्य में भी सम्मान करेंगे।